NEW ADDRESS!!

Blog new address is Meri Baatein

Saturday, August 24, 2013

..क्यूंकि दुनिया में अच्छे लोग भी हैं


कुछ दिन पहले एक मित्र ने मुझे एक ई-मेल फॉरवर्ड किया था...कुछ इस नाम से ई-मेल था.."तस्वीरें जो इंसानियत पर आपका विश्वास और पक्का कर देगी".मुझे वो ईमेल बहुत पसंद आया था, तो सोचा क्यों न इसे ब्लॉग में भी आप सब के साथ साझा किया जाए..देखिये, आपका भी मन थोड़ा अच्छा हो जाएगा - 

जापान के कुछ वरिष्ठ नागरिकों की कहानी जिन्होंने फुकूशीमा नूक्लीअर क्राइसिस को रोकने के लिए खुद को वालंटियर किया  : 

नोर्वे के दो बहादुर लड़के जिन्होंने एक मेमना को समुद्र में डूबने से बचाया 


एक बुकस्टोर के बाहर लगा ये बोर्ड



जब ओहायो शहर की एक ऐथ्लीट अपने एक घायल प्रतिद्वन्द्वी के मदद के लिए रुक गयी थी.


एक तीन साल की बच्ची और एक शोपिंग सेंटर के बीच हुई ये लेन-देन



एक वृद्ध महिला ने एक होटल के वेटर को टिप दिया इस नोट के साथ 



एक "सबवे" रेस्टोरेन्ट के बाहर लगा ये साईनबोर्ड : 



कटक, ओरिसा के एक व्यक्ति की तस्वीर जो फंसे हुए बिल्ली के बच्चे को बाढ़ के पानी से बचा कर दुसरे सुरक्षित स्थान पर ले जा रहा है



एक ड्राईक्लीनर दूकान के बाहर लगा ये बोर्ड.:
पोलैंड के प्लाजा ड्राईक्लीनर ने करीब २००० वैसे लोगों की मदद की है जो ड्राईक्लीन अफोर्ड नहीं कर सकते थे.इसमें प्लाजा ड्राईक्लीनर को $32,000 का खर्च सहना पड़ा था.



एक फाइर्फाइटर की तस्वीर जिसने एक बिल्ली को आग से बचाया


और ये भी :


ग्वाटेमाला की एक स्थानीय लड़की और एक टूरिस्ट की ये प्यारी तस्वीर: 


दो बच्चे जिन्होंने मिलकर एक कुत्ते को नाले से बाहर निकाला : 

एक परिवार को दिया गया यह बिल :

ब्राज़ील में एक विरोध प्रदर्शन के दौरान एक विरोधकर्ता और एक जेनरल के बीच का हुई ये बातचीत : 
उफनती नदी में एक आदमी ने कूद कर किसी अनजान के Shih Tzu(कुत्ते का एक  नस्ल) को बचाया था.
[मेलबोर्न में एक शाम शु-ड्रमंड अपने प्यारे बिबी(Shih Tzu) के साथ घूम रही थी की तभी एक तूफ़ान के आने से 'बिबी' नदी में जाकर गिर गया.पास ही खड़े रादेन सोएविनाता जो अपनी दादी के अस्थियों को विशर्जित करने आये थे वो बिना देरी किये झट से नदी में कूद गए और 'बिबी' को बचा लाये.]


और दो दोस्तों की ये तस्वीर


16 comments:

  1. Awesome yaar.. Loved it. :)

    ReplyDelete
  2. Thanks for sharing it here! In the difficult times that we live in, we need such reassurances to continue believing in life and goodness.

    Thanks again:)

    ReplyDelete
  3. सच में अच्छे लोग अभी है विश्व में।

    ReplyDelete
  4. आज की ब्लॉग बुलेटिन वाकई हम मूर्ख हैं? - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ...

    सादर आभार !

    ReplyDelete
  5. बहुत खूब! सुन्दर!

    ReplyDelete
  6. उम्मीद की किरण :)

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल - सोमवार- 26/08/2013 को
    हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः6 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया आप भी पधारें, सादर .... Darshan jangra

    ReplyDelete
  8. आभार .... मन बहुत खुश हुआ ये पोस्ट पढ़कर ....

    ReplyDelete
  9. बहुत उत्साह भरने वाली पोस्ट, दुनिया अच्छे लोगो की वजह से ही चल रही है .

    ReplyDelete
  10. धन्यवाद अभिषेक!

    ReplyDelete
  11. Acha lgta hai aise post padhke...! Aur aaaj bht dino ke baad aapke blog ko padhkar bhi accha laga :)))

    ReplyDelete

आप सब का तहे दिल से शुक्रिया मेरे ब्लॉग पे आने के लिए और टिप्पणियां देने के लिए..कृपया जो कमी है मेरे इस ब्लॉग में मुझे बताएं..आपके सुझावों का इंतज़ार रहेगा...टिप्पणी देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद..शुक्रिया

Blog new address is Meri Baatein